सोमवार, 10 सितंबर 2007

******* अनुक्रम --सभी हिन्दी आलेख-सग्रंह

हालकी कुछ रचनाएँ- देशबन्धु (राजकीय चिन्तन पर)
दूर-संचार की दिशा में प्रभावी पहल ---------देशबन्धु24, JUN, 2014, TUESDAY (Also on my blog Prantsahabi)
एफडीआई का जबर्दस्त जंजाल --------- देशबन्धु14, DEC, 2012, FRIDAY
जमीनदारी और रिटेल एफडीआई -------- देशबन्धु29, NOV, 2012, THURSDAY
कहो-ऑल इज नॉट वेल -------    देशबन्धु 03, NOV, 2012, SATURDAY
भ्रष्टाचार-मुक्त कारगर प्रशासन का पंचशील --------देशबन्धु  25, OCT, 2012, THURSDAY
गुलामी की मंजिल-स्विस बैंक के रास्ते ------- -देशबन्धु 12, OCT, 2012, FRIDAY
एफडीआई की उतावली - -------देशबन्धु 24, SEP, 2012, MONDAY
व्यवस्था परिवर्तन सूत्र -- सांख्यिकी पद्धति में सुधार- ------- देशबन्धु27, AUG, 2012, 
MONDAY
व्यवस्था परिवर्तन -- अपराध दर्ज ..देशबन्धु 15 सित
शार्टकट से चिरंतन कुछ भी हासिल नहीं होगा -- --------देशबन्धु 10, AUG, 2012, FRIDAY-- मेरी प्रांतसाहबी पर भी




लेखसंग्रहसे अन्य पुस्तकें
अणु विज्ञान 
फिर वर्षा आई
सुवर्ण पंछी
हमारा दोस्त टोटो
गुजारा भत्तेका कानून
देवदासी
शीतला माता
एक था फेंगाड्या
मन ना जाने मनको 
संगणक की जादुई दुनिया
चावल की खीर
आज भी द्वारिका
आकाश दर्शन

आदित्य -- फजिती, वीज, बिजली, बल कार्य ऊर्जा और शक्ति, 
दादा -- पातंजल योगसूत्र, सांख्यकारिका, योगत्रयी, बुद्धयोग -- भगवद्गीता में
सतीश -- मिट्टीके रास्तोंका देश,  पराशर -- आग बनो

3 लेखसंग्रह -- जनता की राय, है कोई वकील  लोकतंत्रका !, मेरी प्रांतसाहबी
--------------------------------
है कोई वकील  लोकतंत्रका !---- हिन्दी आलेख --सग्रंह-२
आलोकपर्व प्रकाशन, 1/6588, 5-ईस्ट रोहतास नगर, नई दिल्ली--110032, फोन 011-22328142
List below exactly as per book Titles with X are not yet available on leap or unicode font.
Bracketted – the dates appearing in preparatory papers

(TO LOCATE 4/26 LEKH) अभिभावक की आँखों से, निसर्गोपचार एक आवश्यक फलसफा, नौकरशाही में सन्यासी,  आयुर्वेद पर अवैज्ञानिकता की मुहर क्यों,  औरत के विरुद्ध

मेरी भूमिका -- वकालत हमें ही करनी है।

1. है कोई वकील ? - दै. महानगर, मुंबई, डिसेंबर १९९१ 
२. सावित्री के साथ समाज ने अन्याय किया है - सा. रविवार, मुंबई, १९८६

३. आदि शकंराचार्य के उत्तराधिकारी - सा. रविवार, मुंबई, १९८५

४. आरक्षण नीति IIPA प्रतियोगिता १९९१ प्रथम पुरस्कार- दै. राष्ट्रीय सहारा, दिल्ली,

५. गुनहगारी के बदलते चेहरे - दै. महानगर, मुंबई, डिसेंबर .१९९२ (written with signed dt 1-12-92 )

XX ६. अभिभावक की आँखों से - दै. महानगर, मुंबई, मार्च १९९१

७. भंडाफोड से उजागर गलतियां + चालाक दलाल व भ्रष्ट राजनीति के भण्डाफोड से किसकी पोल खुली(in 2 parts)-दै. महानगर, मुंबई, २९.०६.१९९३ + 2.7.93  printed on those days )

८. भारतीय नौकरशाही की पुनःसरंचना IIPA प्रतियोगिता १९९३ द्वितीय पुरस्कार -ok -दै. राष्ट्रीय सहारा, 
दिल्ली,

XX ९. निसर्गोपचार एक आवश्यक फलसफा - परिषद प्रभा, दिल्ली, 1991 + मुंबई, भाषण, १९९३

१०. यह शोर कैसा, महानगर - दै. महानगर, मुंबई, ०२.०३.१९९४ -ok

११ राष्ट्रभाषा बचाने का एक सूत्री कार्यक्रम - ? (19-7-??) अन्य संदर्भ दै. महानगर मई 1992

१२. खैरनार के पक्ष में - दै. महानगर, मुंबई,

१३. बटमारी के हिस्सेदार - दै. महानगर, मुंबई,

१४. प्लेग का भय - दै. हिंदुस्तान, दिल्ली,11-10-1994

१५. हवाला के मुद्दे - दै. हिंदुस्तान, दिल्ली, २०.०२.१९९६ व २९.०२.१९९६ (dts are 20 and 21 feb or perhaps 22, 23 feb)

१६. धुन की पक्की महिलाएँ - दै. अक्षरपर्व(देशबन्धु,) रायपुर, (written as settlement com.—96)

XX १७. नौकरशाही में सन्यासी - दै. हिंदुस्तान, दिल्ली, २४.०४.१९९५ – (was that dt of writing?) [+ हिन्दू धर्म में संन्यास-- दै. महानगर 3-5-95 (not referred while editing article for book)]

१८. एक सिंचन व्यवस्था एक विचारधारा (in 2 parts)- दै. राष्ट्रीय सहारा, दिल्ली, १२.०३.१९९५ +(??) -ok

XX १९. आयुर्वेद पर अवैज्ञानिकता की मुहर क्यों ? दै. हिंदुस्तान, दिल्ली, (written as settlement com.—96)
२०. क्या भारतीय प्रशासनिक सेवाएं गैर जरूरी बन गई है? ---दै. हिंदुस्तान, दिल्ली, २५.०५.१९९६ --ok

२१. दिल्ली में महिला सुरक्षा - - दै. राष्ट्रीय सहारा, दिल्ली, ??

२२. स्वास्थ्य नीति : सेवा बनाम शिक्षा --कुछ गायब है

२३. औरत के विरुद्ध - पश्यन्ति, दिल्ली, अक्तू २००२ -ok

२४. दिल्ली का सांस्कृतिक बंजर - दै. हिंदुस्तान, दिल्ली,

२५. व्यर्थ न हो यह बलिदान - दै. हिंदुस्तान, दिल्ली,
-----------------------------------------------------

मेरी प्रांतसाहबी

प्रस्तावना -- ललित सुरजन, रायपुर फोन  09827141800 

खोजो --  भगवद्गीताप्रणीत बुद्धियोग, राजस्थान -- क्या है जनमने और पढने का हक,मालूम ही नही कि सुभाष स्वतंत्रता सेनानी थे 

मेरे दो शब्द

1. मेरी प्रांतसाहबी 1-21-- नया ज्ञानोदय दिल्ली, y

2. पेपर लीक का जबाब है

3. कौन करेगा ये वादा -- रिंकू पाटील की हत्याके संदर्भसे

4. व्यवस्था की एक और विफलता y

5. इस ढीली दण्ड प्रक्रिया को बदलिये y

6.हिन्दी भाषा और मैं

7. संगणक और हिन्दी -- जरूरत है मूलतत्व तक जाने की

8. गो. नी. दाण्डेकर

9. मथना -- एक सागर को -कुसुमाग्रज की कविता को

10. डॉ. राज बुद्धिराजा

11. भगवद्गीताप्रणीत बुद्धियोग -चित्रप्रत

12. तेलगी के दायरे में -जनसत्ता ११.१२.०३ 

13. इस चुनाव में मैं बेजुबान -हिंदुस्तान

14. विभिन्न राज्यों में महिला विरोधी अपराधों का विश्लेषण - मासिक हिमप्रस्थ, सिमला में प्रकाशित

15. राजस्थान -- क्या है जनमने और पढने का हक  + शिशु-लिंग-अनुपात-योजना

16. महिला सशक्तीकरण की दिशा में - योजना

17. सुरीनामियोंकी चिन्ता -जनसत्ता

18. उन्मुक्त आनंद का फलसफा

19. बायोडीजल : अपार संभावनाएं

20. हाथ जनता की नाडी पर -हिंदुस्तान

21. अगस्त क्रांति भवन -- अर्थात् कथा 9 अगस्त की इमारत की -हिंदुस्तान

22. मालूम ही नही कि सुभाष स्वतंत्रता सेनानी थे 

--------------------------------------------------------

जनता की राय से
गुजरात ने जो कहा, कलाकार की कदर, नीरस जीवन की भुक्तभोगी,  एड्स का खौफ, बीजींग कान्फरंस, सीडॉ और भारतीय महिला नीति, परीक्षा प्रणाली में आमूलाग्र सुधार हो, एक स्त्री का साहस, सैनिक -एक श्रद्धांजली  पढाई का बोझ X - रास. २२ जुलाई २००१ 

समाज बनाम प्रशासन -- मेरे लेखोंकी भूमिका 

बंद दरवाजों पर दस्तक देते आलेख -- कमलेश्वरजी द्वारा लिखी प्रस्तावना 

१. हिन्दी में शपथ - जन. १९ अक्टूबर १९९९ y 

२. बच्चों को तो बख्शिए - जन. ३० अक्टूबर १९९९ y 

३. उठो जागो - जन. ११ दिसंबर १९९९ y 

४. नई सहस्त्राब्दी के पहले - जन. १७ दिसंबर १९९९ y 

५. हर जगह वही भूल - जन. ३० दिंसबर १९९९ y 

६. सुयोग्य प्रशासन - जन. ८ जनवरी २००० y 

७. पचास साल बाद हिन्दी - जन. ३ फरवरी २००० y 

८. पुलिस प्रपंच - जन. २५ मार्च २००० y 

९. दिल्ली में युधिष्ठिर - जन. ६ अप्रैल २००० y 

१०. भीड़ के आदमी का हक - जन. १४ अप्रैल २००० y

११. नमक का दरोगा - जन. ५ जून २००० y

१२. जनतंत्र की खोज में - जन. १७ जून २००० y

१३. अर्थव्यवस्था का नमक - जन. २ अक्टूबर २००० y

१४ लालकिले पर कालिख - जन. १४ अक्टूबर २००० y

१५. इक्कीसवीं सदी की औरत X - जन. १७ दिसंबर २००० 

१६. अपने अपने शैतान - जन. २ दिसंबर २००० y

१७. तबादलों का अर्थतंत्र - जन. ६ दिसंबर २००० y

१८. काननून अन्याय - जन. २६ दिसबंर २००० y

१९. राष्ट्रीय संकट में हम - जन. २ फरवरी २००१ y

२०.गुजरात ने जो कहा X - जन. ६ मार्च २००१ 

२१. कलाकार की कदर X - जन. ४ मई २००१ 


२२. नीरस जीवन की भुक्तभोगी X - जन. ६ मई २००१ 


२३.गुजारा भत्ते की दावेदार कैसे बने - रास. १८ फरवरी २००१ y

२४. एड्स का खौफ - रास. २७ मई २००१ 

२५. छोरी साइकिल चलावै छे - प्रख ३१ अक्टूबर २००२ 

२६. बीजींग कान्फरंस, सीडॉ और भारतीय महिला नीति - (जालंधर में दिया गया भाषण) --2000 में

२७. परीक्षा प्रणाली में आमूलाग्र सुधार हो - नभाटा. १२ फरवरी १९९९ 

२८. एक स्त्री का साहस - जन. ३ फरवरी २००० 

२९. सैनिक -एक श्रद्धांजली  - प्रख. जून १९९९ 

३०. पढाई का बोझ X - रास. २२ जुलाई २००१ 

३१. क्या हमारे खून में कश्मीर है - हिंदुस्तान २३ जुलाई २००२ y

३२. लिंगभेद से जूझते हुए - तारा - सनद, अंक १० y

३३. शीतला माता - हिंदुस्तान 23 मार्च २००४ y

३४. सत्ता तंत्र में कमाई : जनता क्या है तेरी की राय- हिंदुस्तान २३ मार्च २००४ 

---------------------------------------------------------------

अन्य चौथे संग्रह के लिये उपलब्ध
चौथे पुस्तक की तैयारी देखें -- ब्लॉग -- है कोई वकील ? --- 

८२. कौन करेगा यह वादा - महानगर
८३. अफसोस जाहिर किया ठीक है - महानगर
८४. केंद्र सरकार में हिंदी प्रयोग को बढ़ावादेने बाबत कार्यसमिति का गठन
८५. महिला सशक्तीकरण की दिशा मे ---- योजना
८६. राजस्थान में शिशु - लिंग अनुपात, + स्त्री भ्रूण हत्या - योजना
८७. खुली अर्थव्यवस्था किसके लिए खुली है - महानगर
८८. महाराष्ट्र में महिला विरोधी अपराध - बलात्कार
८९. दूबधान - नागपूर की महिलाओं के लिए- हिंदुस्तान
९०. राजस्थान : जनमने और पढ़ने कर हक - योजना
९१. नीतिरस्मि जिगिषिताम्‌ 
९२. कुसुमाग्रज की कविता - विपाशा
९३. हिंदू धर्म में सन्यासी - महानगर
९४. उदारीकरण की ओरः प्रशासन के सम्मुख समस्याएँ एवं चुनौतियां
९५. क्यों बजट से आम आदमी खुश नहीं है ? - महानगर
९६. अयोध्या कांड और हिंदू धर्म विचार
९७. कुसुमाग्रज की प्रेमकविता - हिमप्रस्थ
९८. सरकारी कार्यालयों में संगणक
९९. विभिन्न राज्यों में महिला विरोधी अपराध विश्लेषण - हिंदुस्तान
१००. भ्रष्टाचार से निपटने का शुरुआती रास्ता - हिंदुस्तान
१०१. गोवा इलेक्शन - (From English Articles)
१०२. सत्ता में आर्थिक समीकरण - ?
१०३. उदारीकरण की ओर प्रशासन के सम्मुख समस्याए एवं चुनौतियाँ
१०४. छुट्टियाँ कम करो अभियान
१०५. निसर्गोपचार -- एक आवश्यकता
१०६. केंद्र सरकारमें हिंदीको बढावा देनेबाबत कार्यकारी समिती का  गठन

महाराष्ट्र की भक्ति परंपरा में विठ्ठल

सोने के हथियार से लडने के लिये

युगान्तर के पर्व में

हजारों स्कॅम -- देशबन्धु, रायपुर Nov, 2010

विभिन्न भारतीय भाषाओं में आदान प्रदान की संभावनाएँ - शब्दसृष्टि

हॉलण्ड का समाज दर्शन

स्वाइन फ्लू और सरहद देशबन्धु, रायपुर

कम्प्यूटर व हिन्दी -- विश्वहिन्दी सेक्रेटारिएट Jan 2011 issue

हिंदी बरकरार रखने के लिये संगणक

एक था फेंगाडया-- अनुवाद के प्रसंगसे

भ्रष्टाचार से निपटने का शुरुआती रास्ता हिंदुस्तान

स्त्रियोंमें बढती जागरूकता -- संगिनि मसिक सितंबर 

राजस्थान : जनमने और पढ़ने कर हक - योजना (शिशु लिंग भेद + स्त्री भ्रूण हत्या) 


महिला सशक्तीकरण की दिशा मे ---- योजना


सरकारी कार्यालयों में संगणक

खुली अर्थव्यवस्था किसके लिए खुली है महानगर
केंद्र सरकार में हिंदी प्रयोग को बढ़ावा देने बाबत कार्यसमिति का गठन - ?महाराष्ट्र में महिला विरोधी अपराध
हिंदू धर्म में सन्यासी महानगर
उदारीकरण की ओरः प्रशासन के सम्मुख समस्याएँ एवं चुनौतिया
क्यों बजट से आम आदमी खुश नहीं है ? - महानगर
अयोध्या कांड और हिंदू धर्म विचार
दूबधान नागपूर की महिलाओं के लिएहिंदुस्तान
कुसुमाग्रज की प्रेमकविता हिमप्रस्थ
कुसुमाग्रज की कविता विपाशा
नीतिरस्मि जिगिषिताम्‌
भ्रष्टाचार से निपटने का शुरुआती रास्ता हिंदुस्तान
गोवा इलेक्शन - (From English Articles) सत्ता में आर्थिक समीकरण - ?
कौन करेगा यह वादा - महानगर, अफसोस जाहिर किया ठीक है - नभाटा
महिलाओंका घटता लिंग अनुपात और फिसड्डी साक्षरता 

डेंग्यूसे करो मुकाबला होमियोपैथीसे

सच्चाई का संस्कार, कठिन नही है डगर अभिभावक की, जानो अपनी समृद्धि को, तीनों हिमालयन ओऍसिस, सिमला के अंक में प्रकाशित और एकत्र मिलाये जा सकते हैं।

नौकरशाही की संवेदनशीलता कहाँ गई, व्यवस्था की एक और विफलता - महानगर, ऑगस्ट क्रांति और सरकारी छुट्टियाँ, छुट्टियाँ कम करो अभियान --- ये चार लेख तीसरे संग्रहसे मिलाकर देखना है।
महाराष्ट्र में महिला विरोधी अपराध
---------------------------------------------------------------------------------------
Added on 2-7-2013

गोवंश ह्रास कि सरकारी नीती

डूबेंगे शर्ममें बारबार -- (दिल्ली गँगरेप केस)

क्यूँ नही सरकार रद्द करती 2G Specrtum के गैरकानूनी व्यवहार

महाराष्ट्र में महिला विरोधी अपराध : बलात्कार

चेत जाइये वरना युनीकोड बनेगा हमारी एकात्मिक सांस्कृतिक धरोहर को खतरा

शॉर्टकट से चिरंतन कुछ भी हासिल नहीं होगा देशबन्धु १० अगस्त २०१२

व्यवस्था परिवर्तन सूत्र 1  देशबन्धु 27, Aug

व्यवस्था परिवर्तन -- अपराध दर्ज कराने व उसकी छानबीन बाबत सुधार  देशबन्धु 15 सित.

एफडीआई की उतावली    देशबन्धु 24, Sep, 2012,

गुलामी की मंजिल..स्विस बैंक का पैसा देशबन्धु 12, अक्तू..












कोई टिप्पणी नहीं: